मंदसौर

नपाध्यक्ष की मौत को बीत गए छ: माह, अब तक नहीं हुए उपचुनाव, पार्षद ने लगाई जनहित याचिका – Mera Mandsaur News

जनवरी में नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की हत्या के बाद से पद रिक्त है। मप्र शासन ने अब तक किसी को अध्यक्ष मनोनीत नहीं किया वहीं छह माह पूरे होने वाले हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव के लिए कोई कार्यक्रम घोषित नहीं किया। ऐसे में शहर के जनहित के काम लंबित हैं। पार्षद रामकुमार कोटवानी ने मंगलवार को इंदौर हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगाई। इसमें नगरीय प्रशासन, राज्य निर्वाचन आयोग, नगरीय प्रशासन कमिशनर, कलेक्टर व सीएमओ को पार्टी बनाया है। मनोनीत नहीं करने व चुनाव के लिए कार्यक्रम घोषित नहीं करने पर सभी को पार्टी बनाया। इसकी सुनवाई सोमवार को होने की संभावना है। 

नपा में अध्यक्ष नहीं होने से जनवरी के बाद से विकास कार्य रुके हैं। पीआईसी नहीं होने से नामांतरण भी बंद है। विकास कार्य व बड़े प्रोजेक्ट पर काम नहीं हो रहे। जिससे लोग परेशान हैं। अध्यक्ष की मौत के बाद व लोकसभा चुनाव की आचार संहिता के मध्य प्रशासन के पास करीब दो माह का समय था। अध्यक्ष पद रिक्त होने के बाद 17 जुलाई को छह माह पूरे हो जाएंगे। नगरपालिका अधिनियम के अनुसार छह माह में उप चुनाव करना होेते हैं। चुनाव के लिए 23 दिन पहले कार्यक्रम घोषित करना होता है। इस मान से 23 जून तक राज्य निर्वाचन को चुनाव कार्यक्रम घोषित करना था। ना अब तक उपचुनाव के लिए कार्यक्रम घोषित किया ना किसी निर्वाचित पार्षद में से किसी को अध्यक्ष मनोनीत किया। ऐसे में अब वार्ड 11 के पार्षद रामकुमार कोटवानी ने इंदौर हाइकोर्ट में सहकारिता के वकील आशुतोष निमगावकर के माध्यम से जनहित याचिका लगाई है। हालांकि अभी तारीख नहीं मिली है। कोटवानी ने बताया कि याचिका में नगरीय प्रशासन, राज्य निर्वाचन आयोग, नगरीय प्रशासन कमिशनर, कलेक्टर व सीएमओ को पार्टी बनाया है।