मंदसौर

पंचायत से खफा होकर सडक़ों पर उतरे ग्रामीण

पंचायत से खफा होकर सडक़ों पर उतरे ग्रामीण

जिले के नेतावली गांव के लोगों ने पंचायत की अनदेखी के कारण बनी समस्याओं से परेशान होकर शनिवार को दोपहर में हाईवे जाम कर दिया। करीब २ घंटे यहां लोगों ने जाम लगा रखा। महिलाएं भी घरों से निकलकर हाईवे पर बर्तन लेकर पहुंची और रोड पर बैठ गई। यहां पंचायत के विरुद्ध नारेबाजी भी की। करीब दो घंटे तक हाईवे जाम कर प्रदर्शन लोगों ने किया। इसके बाद तहसीलदार व अफजलपुर टीआई मौके पर पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं सुनने के बाद लिखित में आश्वासन दिलाया। इसके बाद हाईवे से ग्रामीण हटे।

ग्रामीणों का यह कहना था
नेतावाली गांव में मुख्य गांव व नईआबादी में करीब १ किमी की दूर है। नईआबादी क्षेत्र में ८० घर है और यहां कई परिवार निवास कर रहे है। जो पेयजल से लेकर अन्य बुनियादी सुविधाओं को लेकर परेशान है। नईआबादी में सरकार की किसी योजना का लाभ भी नहीं पहुंच रहा। बार-बार सिर्फ आश्वासन मिला। गांव के लाला पठान ने कलेक्टर को पानी की समस्या को लेकर आवेदन दिया तो कलेक्टर के आदेश के बाद यहां नलकूल लगा था। इसमें पानी भी निकला लेकिन पंचायत इसका पानी भी नईआबादी की बजाए गांव में ले जाने पर आमदा है। इसी कारण गा्रमीणों ने यह विरोध किया। नलकूप से पाईप लाईन लाने के लिए ग्रामीणों ने श्रमदान कर लाईन डाली। लेकिन सचिव मुन्नालाल पाटीदार का फोन क्षेत्र के भेरुलाल राठौर के पास आया और कहा कि लाईन पहले गांव में जाएगी। इसी से नईआबादी क्षेत्र के लोगों में आक्रोश बढ़ा और पंचायत से नाराज होकर सडक़ों पर उतरकर प्रदर्शन किया। नईआबादी क्षेत्र की महिलाओं व अन्य लोगों ने कहा कि पंचायत हर बुनियादी सुविधा के साथ सरकार की हर योजना में नईआबादी के लोगों के साथ भेदभाव कर रही है।