मंदसौर

पशुपतिनाथ मंदिर के भक्तो द्वारा चढाए गए 10,000 से अधिक नारियल पहुंचे शमशान, जाने क्या था कारण……..

पशुपतिनाथ मंदिर के भक्तो द्वारा चढाए गए 10,000 से अधिक नारियल पहुंचे शमशान, जाने क्या था कारण……..

पशुपतिनाथ मंदिर में रोज सैकड़ों भक्त मनाेकामना लेकर आते हैं जो पूजन-अर्चन कर पूरा नारियल अर्पित करते हैं। यह प्रबंध समिति द्वारा फिर से बाजार में बेचा जाता है। 6 माह से नारियल की बिक्री बंद कर दी। अधिक मात्रा में इकट्‌ठे होने से गुरुवार को 10 हजार से अधिक सूखे नारियल मुक्तिधाम भेजे गए। जो शव को जलाने में काम आएंगे। ऐसे में समिति को सीधे तौर 60 हजार से अधिक का नुकसान हुआ है। 

पिछले कई सालों से भगवान पशुपतिनाथ को नारियल पूरा चढ़ाया जाता है। मंदिर समिति प्रबंधन भक्तों के चढ़ाए नारियल को कई बार बेचकर आय अर्जित करता है। समिति ग्राहकों को सूखा नारियल 6 रुपए व पानी वाला नारियल 10 रुपए प्रति नग में बेचती है। शुक्रवार को प्रबंधक ने दो ट्राॅली भरकर करीब 10 हजार से अधिक नारियल स्थानीय मुक्तिधाम पर भिजवाए। यदि समय पर इनकी बिक्री की जाती तो यह खराब नही होते। 

नारियल खराब हो चुके थे 
जो नारियल मुक्तिधाम भेजे हैं, वे पूरी तरह से खराब हो चुके थे। हर बार जब नारियल अधिक हो जाते हैं और सूख जाते है तो उन्हें मंदिर समिति के कर्मचारियों द्वारा तोड़ा जाता हैं, इसमें अधिकतर खराब ही निकलते है। इसलिए इस बार हमने नारियल को मुक्तिधाम भेज दिया है। राहुल रूनवाल, प्रबंधक, पशुपतिनाथ मंदिर समिति