किसान समाचार'

अब किसानो को फसल बेचने पर उसी दिन मिलेगा दो लाख रुपए तक का नगद भुगतान, राज्य कृषि विपणन बोर्ड ने जारी किए आदेश – Mera Mandsaur News

अब किसानों को कृषि उपज मंडियों में उपज बेचने पर उसी दिन अधिकतम दो लाख रुपए का नकद भुगतान किया जाएगा। यदि दो लाख रुपए से अधिक की राशि हुई तो उसे बैंक ट्रांसफर से भुगतान की जाएगी। प्रबंध संचालक सह आयुक्त मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड ने यह आदेश जारी कर दिए हैं। आदेश किसानों के लिए फायदेमंद है। 

गौरतलब है कि आयकर अधिनियम के सामान्य भुगतान नियम का हवाला देते हुए मात्र 10 हजार रुपए तक ही नकद भुगतान किया जा रहा है। कुछ व्यापारियों द्वारा आयक अधिनियम की आड़ लेकर नकद भुगतान न कर किसानों से उधरी की जाती है और खरीदी गई उपज आगे बेचकर राशि प्राप्त होने पर ही किसानों को भुगतान किया जाता है। आयकर नियम 1961 की धाराओं के तहत किसान/उत्पादों द्वारा बेची गई कृषि उपज पर दो लाख रुपए तक अधिकतम 1 लाख 99 हजार 999 रुपए नकद भुगतान पर पूर्ण छूट है। यह भुगतान प्राप्त करने पर किसानों को उनका पेनकार्ड या फार्म नंबर-60 भेजने की कोई आवश्यकता नहीं है। यदि कोई लाइसेंसी व्यापारी अधिनियम के निर्देशों का पूर्ण परिचालन नहीं करता है तो उसके क्रय-विक्रय को रोके जाने तथा लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। 

ये हैं नियम : उसी दिन भुगतान नहीं करने पर एक फीसदी लगता है अतिरिक्त 
कृषि उपज मंडी अधिनियम धारा-37 (2) के अनुसार मंडी प्रांगण में खरीदी गई कृषि उपज का भुगतान विक्रेता को उसी दिन मंडी प्रांगण में किया जाना जरूरी है। उसी दिन भुगतान नहीं होने की स्थिति में इसी धारा में विक्रेता को देय राशि के एक फीसदी रोजाना की दर से अतिरिक्त भुगतान पांच दिन में करने का प्रावधान है। साथ ही इस अतिरिक्त अवधि में भुगतान की व्यतिक्रम होने पर मंडी अधिनियम की इसी धारा में क्रेता व्यापारी की अनुज्ञप्ति छठवें दिन स्वत: रद्द मानी जाएगी।