प्रदेश

शाम को थी बेटे की बारात, पूजन सामग्री ला रहे पिता व भाई को डायल-100 ने मारी टक्कर, पिता कोमा में

शाम को थी बेटे की बारात, पूजन सामग्री ला रहे पिता व भाई को डायल-100 ने मारी टक्कर, पिता कोमा में
मालवीय नगर चौराहा की बीआरटीएस लेन पर हादसा 

इंदौर
शाम को बेटे की बारात निकलना थी, इससे पहले ही पिता के साथ मालवीय नगर चौराहे पर दर्दनाक हादसा हो गया। बेटे की शादी के लिए पूजन सामाग्री ला रहे 55 वर्षीय शख्स और उसके 25 वर्षीय भतीजे को पुलिस की डायल-100 ने जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही बाइक 15 फीट दूर तक घसीटती चली गई, वहीं ताऊ और भतीजा उछलकर गिर पड़े। सिर में गंभीर चोट लगने से दूल्हे के पिता कोमा में हैं। डायल-100 का ड्रायवर व उसमें सवार जवान घायलों को सड़क पर ही तड़पता छोड़ निकल गए। मंगलवार शाम को गमगीन माहौल के बीच बेटे की बारात निकली। घटना सुबह साढ़े 11 बजे की है। विजय नगर पुलिस ने डायल-100 के ड्रायवर पर लापरवाही से गाड़ी चलाने और टक्कर मारने का केस दर्ज किया है। बेटे विवेक की बारात की तैयारी में जुटे मालवीय नगर निवासी रामदयाल खटीक पूजन सामग्री लेकर 25 साल के भतीजे चंदन की बाइक से एमआर-9 रोड होते हुए मालवीय नगर की ओर जा रहे थे। चौराहे पर ग्रीन सिग्नल होते ही चंदन ने बाइक आगे बढ़ाई तभी बीआरटीएस लेन में एलआईजी की ओर जा रही तेज रफ्तार डायल-100 ने उन्हें टक्कर मार दी। घटना के बाद विजय नगर निवासी अंकित त्रिवेदी ने अपनी कार से डायल-100 का पीछा किया। 

मंगलवार शाम को बेटे विवेक को बारात के लिए तैयार करती मां। वहीं, अस्पताल के आईसीयू में भर्ती रामदयाल अब भी जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। अंकित ने बताया कि मैंने उन्हें घायल वृद्ध को अस्पताल पहुंचाने के लिए कहा, लेकिन उसने अनसुना कर दिया। घायल चंदन ने बताया कि ग्रीन सिग्नल पर मैंने बाइक आगे बढ़ाई तो डायल-100 ने बाइक के अगले पहिए को टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही अंकल सड़क पर सिर के बल गिरे और उन्हें खून बहने लगा। मैंने लोगों से मदद की गुहार लगाई तो कुछ राहगीरों ने अपनी गाड़ी से तत्काल हमें लाइफलाइन हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया। रामदयाल के रिश्तेदार, और बेटी-दामाद भी अस्पताल आ गए। रामदयाल अब भी होश में नहीं आ पाए हैं।


लसूड़िया में किसी घायल को लेकर जा रही थी वैन- इधर पुलिस वालों का कहना है कि जिस डायल 100 से हादसा हुआ है वह लसूडिया इलाके की थी। लसूडिया क्षेत्र में दोपहर 12 बजे के करीब न्यू लोहामंडी इलाके में एक सड़क हादसे की सूचना मिली थी। तभी डायल-100 वहां पंहुची थी। इस कार ने हादसे में घायल 36 वर्षीय जगीरा और 55 वर्ष के संतोष को कार में बैठाया और पायलेट तेज रफ्तार में उन्हें उपचार के लिए एमवायएच लेकर निकला था तभी मालवीय नगर चौराहे पर उसकी कार से एक्सिडेंट हो गया। पायलट ने पुलिस को बताया कि कार में सवार घायलों की स्थिति गंभीर थी इसलिए वह नहीं रूका। उसे लगा मामूली टक्कर लगी है।

बेटा दूल्हा बन रहा, पिता मौत से संघर्ष कर रहे