जिला

लू और गर्मी से बचने के लिए मतदान केंद्रों पर होंगे माकूल इंतजाम

लू और गर्मी से बचने के लिए मतदान केंद्रों पर होंगे माकूल इंतजाम

 

मंदसौर । जिले में 1141 तो संसदीय क्षेत्रमें २१५७ मतदान केंद्र है। तापमान की अधिकता को देखते हुए सभी केंद्रों पर माकूल इंतजाम किए जा रहे है। 19 मई को होने वाले मतदान और 23 मई को होने वाली मतगणना को लेकर जिले में सभी तैयारियां पूरी है। मतगणना पीजी कॉलेज में होगी। 18 मई को मतदान दलों को केंद्रों की और रवाना किया जाएगा। स्ट्रांग रुम से सामग्री देने के बाद 11 बजे तक सभी बसों को केंद्र के लिए रवाना किया जाएगा। पंखों से लेकर कूलर तक की व्यवस्था केंद्र पर है तो गर्मी से बचाव के लिए मेडिकल सुविधा से लेकर अन्य सभी इंतजाम किए।मतदान के लिए आने वाले मतदाताओं के लिए भी छाया से लेकर पानी और महिलाओं के साथ यदि बच्चे है तो झुले तक की भी व्यवस्था रहेगी। संवेदनशील केंद्रों पर सीसीटीवी व वेबकैमरों से निगाह रखी जाएगी। पूरे जिले में ३ हजार का सुरक्षा बल मतदान के दौरान तैनात रहेगा।
119 रुट बनाए, 116 सेक्टर अधिकारी
जिले की चार विधानसभा के मतदान केद्रों के लिए 119 रुट निर्धारित किए गए। इसमें 116 सेक्टर अधिकारी है। एक दल में चार कर्मचारी के साथ जितने केंद्र उतने मतदान दल गठित किए तो 10 प्रतिशत रिर्जव दल है और 20 प्रतिशत रिर्जव में मशीनें रखी गई है। वाहनों का अधिग्रहण जारी है। 17 को इन सभी में जीपीएस सिस्टम की कार्रवाई की जाएगी।
3 मई को ऑनलाईन सेवा मतदाताओं को भेजा फॉर्म
जिले में १२०४ सेवा मतदाता है। जिन्हें आयोग द्वारा ३ मई को ऑनलाईन प्रक्रिया के तहत मतदान को लेकर फॉर्म भेजा गया है। जिनके मत आना भी शुरु हो गए हैतो पीडब्ल्यूडी मतदाता के अलावा सरकारी मतदाताओं और वाहनों के चालक-परिचालक के मतदान को लेकर भी फॉर्म जारी किए गए है।
अन्य जिलों पर राज्यों को लिखा है पत्र
एसपी विवेक अग्रवाल ने बताया कि समीप के जिलों व जिले के समीप लगने वाली अन्य राज्यों की सीमा वाले जिलों के अधिकारियों को भी पत्र लिखा है। इसमें १९ मई को होने वाले मतदान के ४८ घंटे पूर्वउनकी सीमा में जिले की सीमा में किसी के आने पर सख्त निगाह रखने और इसके लिए अतिरिक्त चैकिंग करवाने की बात कही है तो जिले की सीमा में आने वाले हर व्यक्ति की सघन चैकिंग की जाएगी। प्रचार खत्म होने के बाद जिले के मतदाता के अलावा अन्य कोई व्यक्ति जिले की सीमा में नहीं रहेगा। बॉर्डर पर लगे पांईट पर सख्ती से चैकिंग की जा रही हैऔर हर आने वाले कैमरों से निगाह रखी जा रही है।